Online Computer Courses Classes and Training Program

Blog कैसे लिखें ? How to Write Blog in Hindi

How to Write Blog in Hindi

 

हम आज आपको एक ऐसे विषय के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिसके बारे में सभी कोई जानना चाहते हैं और यह वह लोग हैं जिन्होंने अभी-अभी नया Blog बनाया है या फिर Blogging करना चाहते हैं। दोस्तों हमने आपको ब्लॉग के बारे में आपको पहले भी थोड़ी सी जानकारी दी है। इस पोस्ट को आप पढ़ सकते है  How to Become a Blogger? ब्लॉगर कैसे बनें इसकी सारी जानकारी

ब्लॉगिंग एक ऐसा पैसा कमाने का जरिया है जिसका कोई बॉस नहीं होता। जो आपको हर वक्त यह बताते रहे कि आपको क्या करना है? कैसे करना है? और कब करना है? इस प्रोफेशन में आपका मालिक आप खुद ही होते हैं और इसमें काम करने की पूरी आजादी आपको ही मिलती है। इसलिए आज के युवा ब्लॉगिंग में अपना करियर बनाना चाहते है क्योंकि वे अपने तरीके से काम करना पसंद करते है। इस तरह से काम करना मुझे भी पसंद है।

जिस तरह से किसी काम को करते है और उस प्रोफेशन में मेहनत लगती है या समस्या आती है। वैसे ही इस ब्लॉग्गिंग के प्रोफेशन में भी बहुत मेहनत करना पड़ता है और समस्याएं भी आती है लेकिन इसमें ज्यादा से ज्यादा मेहनत करने , समय देने से काफी लाभ होता है। ब्लॉगिंग करने के लिए धैर्य की बहुत ही जरूरत होती है। इसलिए आपको अपनी काबिलियत पर भरोसा रखते हुए हर दिन काम करते हुए जाना है। जब तक कि आपको सफलता नहीं मिल जाती। 

Blog कैसे लिखें ? How to Write Blog in Hindi 

जब आप ब्लॉग तैयार कर लेते है तो उसके अन्दर आर्टिकल लिखना सबसे जरुरी चीजों में से एक होता है खास कर पहला ब्लॉग पोस्ट क्योंकि कोई Visiter या यूजर आपके पोस्ट को पढ़ता है तो सबसे पहले वह आपके द्वारा लिखें गए कंटेंट को देखता है कि आप ने किस विषय पर क्या लिखा है और किस तरह की जानकारी आप शेयर करते है अपने ब्लॉग पर। इसलिए ब्लॉगिंग में सफल होने के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि आपको अपने ब्लॉग में क्या और कैसे लिखना है?

तो सबसे पहले हम यह जानेंगे कि ब्लॉग लिखने के लिए सबसे जरूरी लाइन क्या होता है। जब कोई नया ब्लॉगर अपना ब्लॉग तैयार करता है तो उसके बाद उसका अगला कदम होता है ब्लॉग के पोस्ट लिखना जिसे हम आर्टिकल भी कहते हैं। 

असल में यह ब्लॉग पोस्ट होती क्या है ? Blogpost kya hoti hai

किसी भी ब्लॉग पर अलग-अलग आर्टिकल लिखे होते हैं। उसे ही हम ब्लॉग पोस्ट कहते हैं। ब्लॉग पोस्ट में टेक्स्ट, इमेज, ग्राफिक्स और वीडियो के रूप में कंटेंट लिखे जाते हैं। आपने ब्लॉग चाहे किसी भी उद्देश्य से बनाया है बिजनेस के लिए या किसी भी पर्सनल काम के लिए आपका कॉन्टेंट ब्लॉग के सफलता में भूमिका निभाती है।

किसी भी ब्लॉग का सबसे पहला पोस्ट यह बताता है कि उस ब्लाग पर किस विषय पर जानकारी मिलने वाली है जैसे टेक्नोलॉजी गैजेट रिव्यू हेल्थ सपोर्ट एजुकेशन इंटरटेनमेंट साइंस ब्लॉग इन इंटरनेट आदि आप चाहे किसी भी विषय के ऊपर अपना ब्लॉग बनाए। लेकिन आपको सिर्फ एक बात का ध्यान देना है कि आपका पहला पोस्ट पढ़ने के बाद विजिटर को ऐसा लगना चाहिए की वो यहाँ आपके ब्लॉग पर दोबारा वापस आए निराश होकर वापस ना जाए। यूजर को जो जानकारी चाहिए वह आपके ब्लॉग पर मिले। ऐसा काम करना जरूरी है तभी आपका पोस्ट गूगल के पहले पेज पर रैंक करेगा जिससे आपके ब्लॉग पर बेशुमार ट्रैफिक आना शुरू हो जाएगा।

ब्लॉग पर आर्टिकल कैसे लिखें ? How to Write a Article on Blog ?

तो चलिए अब हम लोग जानते हैं कि ब्लॉग पर आर्टिकल कैसे लिखें ब्लॉग बनाने से पहले ही आपलोग को इस के ऊपर प्लान तैयार कर लेना चाहिए। सबसे पहले वह टॉपिक क्या है जिसके ऊपर आप आर्टिकल लिखने वाले है और किस विषय के ऊपर लिखेंगे। फिर भी जब लिखने की बारी आती है तो उस वक्त समझ नहीं आता कि शुरुआत कैसे करें। कौन सी जानकारी कब देनी है पोस्ट के अंत में क्या लिखना है और हमारी आर्टिकल की लम्बाई कितने शब्दों में होनी चाहिए। यह सारी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। 

ब्लॉग बनाने से पहले आपने काफी रिसर्च किया होगा और यह आप अच्छी तरह से जानते होंगे कि गूगल उन्हें आर्टिकल को सर्च इंजन पर टॉप करता है जिनका कॉन्टेंट यूनिक होने के साथ-साथ लंबा यानी कि ज्यादा शब्द में होता है। इसलिए शुरुआती समय में एक ब्लॉगर को आर्टिकल लिखने समय काफी तकलीफ उठानी पड़ती है।
इसलिए हम आपको एक अच्छा सा जानकारी देंगे जिससे आप एक अच्छा और इंटरएक्टिव आर्टिकल लिख पाएंगे।

Best Tips For Article Writing

कोई भी आर्टिकल लिखने से पहले आपको एक ऐसे टॉपिक पर चुनाव करना है जिसके बारे में बहुत कम लोगों ने लिखा है या फिर एसे टॉपिक्स के ऊपर लिखना है जिसका सर्च वॉल्यूम ज्यादा है सर्च वॉल्यूम का मतलब जिसके बारे में लोग ज्यादा सर्च करते हैं कुछ ऐसी वेबसाइट है जहां पर आप मुफ्त सर्च वॉल्यूम के बारे में पता कर सकते हैं। जैसे- Google Trends , गूगल कीवर्ड प्लानर इत्यादि इन वेबसाइट में आपको किसी एक टॉपिक का एवरेज मंथली सर्च वॉल्यूम बताया रहता है कि कितने लोग उस के बारे में सर्च करते हैं। साथ ही यहाँ पर यह भी बताया गया है कि उस टॉपिक का सर्च कम्पटीशन हाई मीडियम या लो है यदि उस टॉपिक का कंपटीशन हाय होगा तो आपका आर्टिकल गूगल में जल्दी रैंक नहीं कर सकेगा।

क्योंकि उसके ऊपर पहले से ही ब्लॉग बड़े-बड़े आर्टिकल लिख चुके हैं इसलिए बेहतर होगा कि आप मीडियम या लो कंपटीशन वाला टॉपिक चूस करे जिसका सर्च वॉल्यूम भी हो और उसी पर आर्टिकल लिखें। टॉपिक सुनने के बाद आपको उस टॉपिक से रिलेटेड कीवर्ड सर्च करना जरूरी है ताकि आप उनकी वर्ड को अपने आर्टिकल में डाल सके कीवर्ड्स को सर्च करने के लिए आप उन्हीं वेब साइट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसके बारे हमने आपको पहले वाले टिप्स में बताया है अपने टॉपिक चुन लिया उस से रिलेटेड कीवर्ड्स भी चुन ली है। अब बारी आती है उस टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी को हासिल करने की। 

वैसे तो आप उन्हीं टॉपिक को चुनेंगे जिनके बारे में आपको ज्ञान है और उससे जुड़ी जानकारी इकट्ठा करना भी आपके लिए जरूरी है ताकि आप अपने आर्टिकल में उस टॉपिक की पूरी जानकारी प्रदान कर सके। इसके लिए आपको उस उस टॉपिक से जुड़ी पांच से छे आर्टिकल दूसरे ब्लॉग से पढ़ने होंगे। जहां आपको एक बात का ध्यान रखना है कि उस आर्टिकल का कॉपी पेस्ट नहीं करना है। बल्कि उनसे जानकारी हासिल करना है फिर उन्हें अपने यूनिक शब्दों में लिखना है और अपने यूजर को पढ़ते वक्त पसंद आए।

टॉपिक से जुड़ी सारी जानकारी इकट्ठा करने के बाद आपको अपने आर्टिकल का एक स्ट्रक्चर बनाना है कि आपका मेन हैडिंग क्या होगा ? उसके बाद आपका सब हैडिंग क्या होगा ? और कहां-कहां पर क्या जानकारी देनी है ? सब कुछ स्टेप बाय स्टेप लिखना है ताकि आर्टिकल पढ़ने में अच्छा लगे। साथ ही इससे सही जानकारी मिले इस बात का ध्यान रखना है आपको मेन हैडिंग लिखने से पहले आपको अपना पोस्ट का इंट्रोडक्शन जरुर लिखें। आप इंट्रो को 5 से 7 लाइन तक ही रखें ताकि लोगों को यह समझ में आये कि इस आर्टिकल में किस विषय के ऊपर लिखी गई है। आपको अपने इंट्रो में एक टॉपिक्स रिलेटेड एक कीवर्ड इस्तेमाल करें, जो आपने पहले से सर्च करके रखा है उसका उपयोग यहां जरूर करें।

इंट्रोडक्शन के बाद मेन हेडिंग्स लिखे और सब हेडिंग्स लिखें जैसे मान लीजिए आपका मेन हैडिंग है कंप्यूटर क्या है तो आप का सब हेडिंग होगा कंप्यूटर का इतिहास ,कंप्यूटर के पार्ट्स, जनरेशन इत्यादि पोस्ट से संबंधित कीवर्ड्स का उपयोग जरूर करें और उन Keywords को बोल्ड में रखें ताकि आपका आर्टिकल गूगल पेज में रैंक होने के लिए तैयार हो जाए। 

अब यहां पर सवाल आता है कि आपको अपने आर्टिकल को कितने शब्दों में लिखना होगा वैसे इसके लिए तो कोई मापदंड जारी नहीं किया गया है लेकिन कई सारे शोधों से यह पता चला है कि गूगल या अन्य सर्च इंजन 600 से दो हजार लिखे गए पोस्ट को ज्यादा प्रोग्रेस देते हैं। इसलिए यह अच्छा होगा कि आप अपने आर्टिकल को 600 शब्दों में जरूर लिखें अंत में जब सब जानकारी पूरी हो जाए तो आप उसका एक छोटा सा कंक्लुजन भी लिख सकते हैं। 

आपके द्वारा बताने गए कंक्लूजन के द्वारा लिखना जरूरी है जो 4 से 5 लाइन जरूरी है इस कन्फ्यूजन से रीडर को यह समझाना चाहिए कि आपने किन-किन बातों को कवर किया अगर कोई पॉइंट हमसे छूट गया हो तो उनके पास यह संभावना है कि वह देखने के लिए आर्टिकल पर जाएंगे कि उन्होंने क्या मिस किया है। 

आर्टिकल पूरा लिखने के बाद आपको अपने पोस्ट में एक इमेज भी डालनी होगी जो कि आपके कंटेंट से संबंधित है। इमेज जो मुंह में आपको उपलब्ध होती है उनका यूज करना है नहीं तो वरना आपके ब्लॉग पर कॉपीराइट का इशू हो जाएगा। इसलिए मुफ्त में इमेज डाउनलोड करने के लिए आप कुछ ऐसे वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं जहां से आपको कोई इमेज डाउनलोड करने में कोई दिक्कत नहीं आएगी Pixabay  पिक जिंबू , Unsplash जैसे कुछ वेबसाइट है जहां से आप फ्री इमेज डाउनलोड कर सकते हैं। 

आपने मेन हैडिंग लिख लिया, सब हेडिंग, कन्फ्यूजन, इमेज सब दे दिया बस हो गया आपका आर्टिकल तैयार। उसके बाद आपको पब्लिश कर देना है। आपको यूजर तक अपने कांटेक्ट पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया में अपलोड करना है। 

दोस्तों एक ब्लॉग लिखने से आप बहुत अच्छे ब्लॉगर नहीं बन जाते हैं। उसके बाद आपको अपने ब्लॉग पर लगातार अच्छे-अच्छे कंटेंट डालने की आवश्यकता है। जिससे कि आप की ऑडियंस आपके काम से खुश हो और उनके सहायता भी हो सके ध्यान रहे कि आपको किसी दूसरे के ब्लॉग से उठाकर आर्टिकल नहीं डालना है बल्कि अपनी सोच और अच्छे शब्दों से उसी टॉपिक पर अच्छा लेख लिखना है। आर्टिकल लिखने पर कोई जल्दबाजी करने में कोई जरूरत नहीं है आप जो भी लिखना चाहे आपको उसमें  जितना भी समय लगे आपको एक अच्छा और क्वालिटी कांटेक्ट ही प्रस्तुत करना है। 

इससे उन लोगों को भी फायदा मिलेगा जिन्हें आर्टिकल लिखने में परेशानी होती है। यह जिन्हें पता नहीं की यूनिक आर्टिकल कैसे लिखते हैं। आर्टिकल का लिखना कोई बड़ी बात नहीं है अच्छा आर्टिकल लिखना जिससे दूसरों की हेल्प हो सके। उससे आप एक बेहतर ब्लॉगर बन सकेंगे।

एक अच्छा और Successful Blogger बनने के आपको हमेशा सीखते रहना होगा आप कभी भी सिखने से पीछे  हटे। मैं ऐसा इसीलिए कह रहा हूँ क्योंकि मैंने भी जब ब्लॉग्गिंग शुरू किया था तो मुझे भी पोस्ट सही नहीं लिखना आता था। फिर मैं Youtube से विडोज़ देख कर सीखना शुरू कर दिया अलग अलग लोगो के लिखे हुए ब्लॉग को पढ़ना शुरू कर दिया। 

इससे आज मैं एक अच्छा कंटेंट लिख सकता हूँ अपने कैटेगरी के topic के ऊपर। लिखने में बेहतर तब हो पाया जब PM International के Product के बारे में हिंदी में लिखना शुरू किया क्योंकि इस टॉपिक के ऊपर हिंदी कंटेंट गूगल पर था ही नहीं और इसकी जानकारी हिंदी में लिखने पर कुछ ही दिनों में Google Search में फर्स्ट पेज पर मेरा आर्टिकल आने लगा। PM International के बारे में अगर आप जानना चाहते है तो इसे पढ़ें PM International क्या है ? इससे पैसे कैसे कमायें

अगर आर्टिकल पसंद आये तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।जितना ज्यादा शेयर करेंगे उससे उतना ज्यादा मैं यहाँ अपनी जानकारी शेयर करता रहूँगा। धन्यवाद् !

Post a Comment

0 Comments